जानिए कब से शुरू हो रहा है शारदीय नवरात्र

  शारदीय नवरात्र शुरू होने वाले हैं. हिन्दू धर्म में शारदीय नवरात्र का अपना विशेष महत्व है. नौ दिनों तक चलने वाले इस पर्व में देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती हैं. नवरात्रि के नौ दिन के दौरान मां के नौ स्वरूपों शैलपुत्री ,ब्रह्मचारणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी ,कालरात्रि ,महागौरी और सिद्धिदात्री की आराधना की जाती हैं. ज्योतिषी शास्त्र में सर्वार्थ सिद्धि योग बेहद शुभ योग माना जाता है. नवरात्रि में नौ दिन उपवास रखा जाता हैं और दसवे दिन कन्या पूजन के पश्चात् उपवास को खत्म किया जाता है. नवरात्रि को दुर्गा पूजा भी कहा जाता हैं, ऐसी मान्यता है कि मां भगवती ने महिषासुर जो कि महाबलवान और भयानक राक्षस था उसका अंत कर माँ ने देवताओ की रक्षा की थी।

इस बार नवरात्रि महापर्व 17 अक्टूबर से शुरू हो रहा, हम आपको बताते हैं कि नवरात्रि में किस दिन आपको भगवती के किस स्वरूप की पूजा करनी है

17 अक्टूबर :  प्रथम प्रतिपदा कलश स्थापना, शैलपुत्री

18 अक्टूबर :  द्वितीया मां ब्रह्मचारिणी पूजा

19 अक्टूबर :  तृतीय मां चंद्रघंटा पूजा

20 अक्टूबर :  चतुर्थी मां कुष्मांडा पूजा

21 अक्टूबर :  पंचमी मां स्कंदमाता पूजा

22 अक्टूबर : षष्ठी मां कात्यायनी पूजा

23 अक्टूबर:  सप्तमी मां कालरात्रि पूजा

24 अक्टूबर :अष्टमी मां महागौरी दुर्गा महा नवमी पूजा दुर्गा महा अष्टमी पूजा

25 अक्टूबर  :नवमी मां सिद्धिदात्री नवरात्रि पारण विजय दशमी

 

   दशमी के दिन होता रावण वध

वहीं कई राज्यों में नवरात्रि के नौ दिनों में रामलीला का आयोजन भी किया जाता हैं। नवमी की समाप्ति के बाद दशमी को रावण का दहन किया जाता है और इस दिवस को विजयादशमी के रूप में मनाया जाता है. ऐसी मान्यता है कि भगवान राम ने रावण का वध दशमी के दिन ही किया था. इसलिए रावण वध का कार्यक्रम पूरे देश में धूमधाम से मनाया जाता है.

 

By